नेट पर हिंदी

हृदय की कोई भाषा नहीं है, हृदय-हृदय से बातचीत करता है और हिन्दी हृदय की भाषा है-महात्मा गांधी 

नेट पर हिंदी

अभी तक लोग ये मानते थे की इंटरनेट सिर्फ उन लोगो के लिए है जो अंगरेजी जानते और समझते है लेकिन पिछले कुछ सालो में नेट का द्रश्य बिलकुल बदल गया है.

 

अब हिन्दी जानने और समझाने वाले लोगो के लिए सूचना के इस संसार में काफी कुछ है. ये साईट नेट पर हिन्दी का एक ऐसा प्रवेश द्वार है जहा हिन्दी में किसी भी विषय के बारे प्रचुर सामग्री उपलब्ध है. (www.hindionnet.com)